Languages: English Hindi
ऑफलाइन बैंकिंग से ऑनलाइन बैंकिंग की ओर हस्तांतरण
IAMAI तथा कॅन्‍टार IMRB की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत में इंटरनेट बैंकिंग प्रयोग करने वालों की संख्‍या जून, 2018 तक 50 करोड़ पर पहुँच जाएगी। रुझानों में आए ऑफ़लाइन से ऑनलाइन के इस बदलाव को ध्‍यान में रखते हुए, डिजिटल बैंकिंग ईकोसिस्‍टम निरंतर बदलता जा रहा है और इसका उद्धेश्‍य आपको बेजोड़ ऑनलाइन बैंकिंग सुविधायें उपलब्‍ध कराना है। चाहे यह खरीदारी हो, यात्रा योजनायें हों या मनोरंजन का अभूतपूर्व अनुभव, आज सारे रोज़मर्रा के लेन-देन ऑनलाइन ही किए जाते हैं। तो, इस डिजिटल क्राँति में हमारे साथ शामिल हो जाइये और मात्र एक बटन के क्लिक भर से बैंकिंग तथा फाइनेंस जगत के अनुभव प्राप्‍त कीजिए और वह भी आराम से घर बैठे हुए।
और पढो
Read More
और पढो
डिजिटल बैंकिंग | onlinebankaccount.inआपकी ज़रूरतों के लिए सबसे अच्छा बैंक चुनें। तुलना करें और तुरंत बचत खाता खोलें। यहां क्लिक करे
Read More
और पढो
ई-वॉलेट बनाम नेट बैंकिंगभारत सरकार द्वारा ज्याद बड़े नोटों के विमुद्रीकरण ने देश की समग्र वित्तीय प्रणाली में काफी उथल-पुथल कर दिया।
Read More
और पढो
चालू खाता या बचत खाताएक औसत व्यक्ति का बचत और चालू खातों को लेकर भ्रमित होना संभव है, यहां हम उन्हीं भ्रम और संदेहों को दूर करना चाहते हैं।.
अध्ययन केंद्र


आधार पर सर्वोच्‍च न्‍यायालय का फैसला: पक्ष तथा विपक्ष और पढो


आधार पर निर्णय आने के बाद वित्‍तीय प्रौद्योगिकी (फिनटेक) तथा भुगतान उद्योग में किस प्रकार बदलाव आएगा? और पढो


आधार कार्ड पर सर्वोच्‍च न्‍यायालय का निर्णय और भारतीय बैंकों पर इसका असर और पढो


आधार पर सर्वोच्‍च न्‍यायालय का निर्णय: यह दूरसंचार उद्योग को किस प्रकार प्रभावित करता है और पढो
हमसे संपर्क करें : onlineacctopen@gmail.com